BS4 Vehicles: कार-बाइक लवर्स 31 मार्च को लेकर रहें अलर्ट

BS6 Vehicles

What is BS: यदि आप बाइक (Bike) या फिर कार (Car) खरीदने को सोच रहे हैं तो ये खबर आपके लिए महत्वपूर्ण है। पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने ऑटोमोबाइल (Automobile) की याचिका को खारिज करते हुए कहा कि 31 मार्च 2020 के बाद BS4 वाहन नहीं बिकेंगे।

दरअसल यदि आप कार या बाइक खरीदने जा रहे हैं, तो आपको BS नंबर को लेकर अलर्ट रहना होगा वर्ना आपको BS4 और BS6 का अपग्रेशन कराना होगा। इतना ही नहीं, अगर आप सेकंड हैंड गाड़ी खरीदने भी जा रहे हैं तो आपको BS4 का ध्यान रखना होगा। वहीं, अगर BS4 से BS5 का अपग्रेशन करा रहे हैं तो इसके लिए आपको 10 से 20 हजार रुपये खर्च करने होंगे।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि 31 मार्च 2020 के बाद BS4 वाहन नहीं बिकेंगे। यानी अगर आप नई कार या बाइक खरीदने जा रहे हैं तो BS नंबर को लेकर अलर्ट रहें।

क्‍या है BS (What is BS)

जब भी गाड़ी की बात होती है, तो उससे जुड़े एक नाम ‘BS’ का भी जिक्र होता है। दरअसल, BS का मतलब भारत स्टेज (Bharat Stage) से है। यह एक ऐसा मानक है जिससे भारत में गाड़ियों के इंजन से फैलने वाले प्रदूषण को मापा जाता है। इस मानक को भारत सरकार ने तय किया है। वहीं बीएस के आगे नंबर (BS-3, BS-4, BS-5 या BS-6) भी लगता है।

BS के आगे नंबर के बढ़ते जाने का मतलब है उत्सर्जन के बेहतर मानक, जो पर्यावरण के लिए सही हैं। आसान भाषा में कहें तो BS के आगे जितना बड़ा नंबर लिखा होता है उस गाड़ी से उतने ही कम प्रदूषण होने की संभावना होती है।

आपको बता दें कि देश में 1 अप्रैल से BS-6 वाहन को अनिवार्य कर दिया गया है। इससे गाड़ी से होने वाले प्रदूषण कम होने की उम्‍मीद है। इसी को ध्‍यान में रखकर अब ऑटो कंपनियां BS-6 गाड़‍ियां लॉन्‍च कर रही हैं। इस बीच, ऑटो कंपनियां BS-4 वाहन के स्‍टॉक को खाली करने के लिए बंपर डिस्‍काउंट और ऑफर्स दे रही हैं। हालांकि, इस ऑफर्स के चक्‍कर में गाड़ी खरीदने से आपकी परेशानी बढ़ सकती है।

Notifications    Ok No thanks