Times Bull
News in Hindi

10 जुलाई से शुरू हो रहा इस बार का सावन है बेहद खास, पूरी होगी हर मनोकामना

सनातन धर्म में को अतिपावन माना गया है। पुराणों के अनुसार को की अराधना के लिए सबसे उपयुक्त समय माना जाता है। इस दौरान मांगी गई हर मनोकामना पूरी होती है। इस बार सावन 10 जुलाई से शुरू होने जा रहा है। इस बार का सवान माह बेहद खास है। वजह है इस बार के विशेष योग। असल में इस बार सावन में पांच सोमवार हैं। इस बार सावन की शुरुआत भी सोमवार से और समापन भी सोमवार (7 अगस्त) को ही होगा। यह खास योग कई वर्षों में एक बार बनता है।

5 सोमवार का संयोग

सावन के सोमवार तो वैसे ही अराधना के लिए बेहद खास माने जाते हैं। इस बार शिव भक्तों को सावन माह में 5 सोमवार व्रत रखने को मिलेंगे। पहला सोमवार 10 जुलाई, दूसरा 17 जुलाई, तीसरा 24 जुलाई, चौथा 31 जुलाई और पांचवां 7 अगस्त को होगा। 7 अगस्त को ही रक्षाबंधन भी है।

ऐसे करें पूजा

अगर आप भी अपनी हर मनोकामना पूर्ण करना चाहते हैं। कुंवारी लड़कियां मनचाहा वर पाना चाहती हैं तो उन्हें इस सावन का पूरा पूरा लाभ लेना चाहिए। शिव भक्ति के लिए रोज शिवलिंग पर जल अर्पित करे। विशेष रूप से सावन के हर सोमवार शिवजी की पूजा करें। इस नियम से शिवजी की कृपा होगी और हर मनोकामना पूर्ण होगी।

पूजा की विधि

सोमवार को सुबह जल्दी उठें और नहा कर शिव मंदिर जाएं। मंदिर में भगवान के सामने व्रत का संकल्प लें। इस व्रत में एक समय रात्रि में ही भोजन किया जाता है। दिन में फलाहार किया जा सकता है। साथ ही दूध भी पिया जा सकता है। संकल्प के बाद शिवलिंग पर जल अर्पित करें। गाय का दूध अर्पित करें। इसके बाद फूलों का हार और चावल, कुमकुम, बिल्व पत्र, मिठाई आदि सामग्री चढ़ाएं। इस दौरान शिव मंत्र – ऊँ महाशिवाय सोमाय नम: या फिर ऊँ नम:शिवाय का जाप कम से कम 108 बार करें। शिव के परिवार का भी पूजन करें।

Related posts

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Loading...