News in Hindi

पूर्ण सूर्यग्रहण आज है, ज्योतिष गणना के मुताबिक आप पर होगा यह असर

खंडग्रास चंद्र ग्रहण के बाद अब आज 21 अगस्त को पूर्ण सूर्य ग्रहण है। 99 वर्षों में यह पहली बार होने जा रहा है कि यह सूर्य ग्रहण केवल अमेरिकी महाद्वीप में ही नजर आएगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चंद्र ग्रहण के दो सप्ताह बाद सूर्य ग्रहण लगता है। इस बार चंद्र ग्रहण 7 अगस्त रक्षाबंधन के दिन ही था। संयोग से उस दिन भी सोमवार था और सूर्य ग्रहण के दिन भी सोमवार है। इससे इसका महत्व और भी बढ़ जाता है।

ज्योतिष शास्त्र की मैदनीय संहिता के अनुसार चंद्र ग्रहण के बाद सूर्य ग्रहण आता है। चंद्र ग्रहण पूर्णिमा को और सूर्य ग्रहण अमावस्या को होगा। हालांकि यह सूर्य ग्रहण भारत में नजर नहीं आएगा। खग्रास सूर्य ग्रहण की अधिकतम स्थित 2.45 मिनट की रहेगी, तभी भारतीय समय अनुसार यह रात 11.16 बजे से 11.34 मिनट के बीच अलग अलग समय पर खग्रास व खंड ग्रास सूर्य ग्रहण दिखाई देगा। उस समय भारत में रात होगी, इसलिए यह यहां नजर नहीं आएगा।

पूर्ण सूर्यग्रहण 21 अगस्त

यह सूर्य ग्रहण केवल अमेरिकी महाद्वीप में ही दिखाई देगा, इसलिए यह भारत में मान्य नहीं है। भू मंडलीय ग्रहण गणना के अनुसार सूर्य ग्रहण का सूतक, स्नान, दान पुण्य भी इस कारण इस बार भारत में मान्य नहीं होगा। यानी कि इसका भारत में रहने वाले लोगों पर कोई असर नहीं होगा। पंडितों के अनुसार जो लोग ग्रहण को मानते हैं, उन्हें इस दिन खास तौर पर पूजा अर्चना करनी चाहिए और उसके बाद गरीबों को दान करना चाहिए, गाय को रोटी खिलानी चाहिए। ऐसा करने से साल भर से आ रही तमाम परेशानियों का अंत हो जाता है।

आपको बता दें कि 21 अगस्त को होने वाला सूर्य ग्रहण कनाडा, अलास्का, मैक्सिको, आईसलैंड, उत्तरी अमेरिका, अटलांटिक महासागर, अफ्रीका व दक्षिणी अमेरिका के उत्तरी पश्चिमी भाग के कुछ हिस्सो में ही दिखाई देगा।