Leo Rashifal : सिंह राशि वाले धन के मामलों में बहुत ही भाग्यशाली होते हैं, इस देवता के पूजा करने से होगा विशेष लाभ

Leo Rashifal in hindi : सिंह राशि राशिफल चक्र की पाचवीं राशि है। और पूर्व दिशा की द्योतक है। इसका चिन्ह शेर है। इसका विस्तार राशि चक्र के 120 अंश से 150 अंश तक है।सिंह राशि का स्वामी सूर्य है, और इस राशि का तत्व अग्नि है। इसके तीन द्रेष्काण और उनके स्वामी सूर्य,गुरु, और मंगल, हैं। इसके अन्तर्गत मघा नक्षत्र के चारों चरण,पूर्वाफ़ाल्गुनी के चारों चरण, और उत्तराफ़ाल्गुनी का पहला चरण आता है। यह बहुत शक्तिशाली है।

जिन व्यक्तियों के जन्म समय में चन्द्रमा सिंह लगन मे होता है, वे सिंह राशि के जातक कहलाते हैं, जो इस लगन में पैदा होते हैं वे भी इस राशि के प्रभाव में होते है।पांडु मिट्टी के रंग वाले जातक,पित्त और वायु विकार से परेशान रहने वाले लोग, रसीली वस्तुओं को पसंद करने वाले होते हैं, कम भोजन करना और खूब घूमना, इनकी आदत होती है, छाती बडी होने के कारण इनमें हिम्मत बहुत अधिक होती है और मौका आने पर यह लोग जान पर खेलने से भी नही चूकते।इस लगन में जन्म लेने वाला जातक जीवन के पहले दौर में सुखी, दूसरे में दुखी और अन्तिम अवस्था में पूर्ण सुखी होता है।

नौकरी और व्यवसाय: इस राशि वाले जातक कठोर मेहनत करने के आदी होते हैं, और राशि के प्रभाव से धन के मामलों में बहुत ही भाग्यशाली होते हैं, पंचम राशि का प्रभाव कालपुरुष की कुन्डली के अनुसार इनको तुरत धन वाले क्षेत्रों में भेजता है, और समय पर इनके द्वारा किये गये पूर्व कामों के अनुसार ईश्वर इनको इनकी जरूरत का चैक भेज देता है। इस राशि वाले जातक जो भी काम करते हैं वे दूसरों को अस्मन्जस में डाल देने वाले होते है, लोग इनके कामों को देखकर आश्चर्य में पड़ जाते हैं। स्वर्ण, पीतल, और हीरा जवाहरात के व्यवसाय इनको बहुत फ़ायदा देने वाले होते हैं,सरकार जैसे और राजाओं जैसे ज़िन्दगी जीने का शौक रखते हैं|

प्यार और स्नेह: सिंह राशि शाही राशि मानी जा्ती है, सोचना शाही, करना शाही, खाना शाही, और रहना शाही, इस राशि वाले लोग जुबान के पक्के होते हैं, उनके अन्दर छछोडपन वाली बात नही होती है, अपनी मर्यादा में रहना, और जो भी पहले से चलता आया है, उसे ही सामने रख कर अपने जीवन को चलाना, इस राशि वाले व्यक्ति से सीखा जा सकता है। सिह राशि वाला जातक जब किसी के घर जायेगा, तो वह किसी के द्वारा दिये जाने वाले आसन की आशा नही करेगा, वह जहां भी उचित और अपने लायक आसन देखेगा, जाकर बैठ जायेगा, वह जो खाता है वही खायेगा, अन्यथा भूखा रहना पसंद करेगा, वह आदेश देना जानता है, किसी का आदेश उसे सहन नही है, जिस किसी से प्रेम करेगा, उसके मरते दम तक निभायेगा, जीवन साथी के प्रति अपने को पूर्ण रूप से समर्पित रखेगा, अपने व्यक्तिगत जीवन में किसी का आना इस राशि वाले को कतई पसंद नही है, और सबसे अधिक अपने जीवन साथी के बारे में वह किसी का दखल पसंद नही कर सकता है ।

सेहत और परिवार: इस राशि के जातकों की वाणी और चाल में शालीनता पायी जाती है। इस राशि वाले जातक सुगठित शरीर के मालिक होते हैं |अधिकतर इस राशि वाले या तो बिलकुल स्वस्थ रहते है, या फ़िर आजीवन बीमार रहते हैं, जिस वातावरण में इनको रहना चाहिये, अगर वह न मिले, इनके अभिमान को कोई ठेस पहुंचाये, या इनके प्रेम में कोई बाधा आये, तो यह लोग अपने मानसिक कारणों से बीमार रहने लगते है, इनके लिये भदावरी ज्योतिष की यह कहावत पूर्ण रूप से खरी उतरती है, कि मन से तन जुडा है, और जब मन बीमार होगा तो उसका प्रभाव तन पर पडेगा, अधिकतर इस राशि के लोग रीढ की हड्डी की बीमारी या चोटों से अपने जीवन को खतरे में डाल लेते हैं, और इस हड्डी का प्रभाव सम्पूर्ण शरीर पर होने से, चोट अथवा बीमारी से शरीर का वही भाग निष्क्रिय हो जाता है, जिस भाग में रीढ की हड्डी बाधित होती है। वैसे इस राशि के लोगों के लिये ह्रदय रोग,धडकन का तेज होना,लू लगना, और संधिवात ज्वर होना आदि होता है। दाम्पत्य अच्छा रहेगा। जीवन साथी को आपकी कोई बात प्रभावित कर सकती है। ससुराल पक्ष में कोई मांगलिक उत्सव आयोजित हो सकता है। परिवार का माहौल खुशनुमा रहेगा। भाइयों से सहयोग मिलेगा। किसी उत्सव में शामिल हो सकते हैं। संतान से विवाद हो सकता है। माता-पिता की सेहत का ध्यान रखना होगा।

सिंह राशि वाले इस भगवान की करें पूजा: सूर्य देव की पूजा करें

सिंह राशि के जातक करें ये उपाय:

  • सबसे बड़ी समस्या है, जीवन में ज्यादा संघर्ष होना।
  • इसके लिए सूर्य देव की उपासना करें।
  • आपको पूजा में रोली का प्रयोग जरूर करें।
  • रोज सूर्य को जल अर्पित करें।
  • व्यापार स्थान पर गोपाल सहस्रनाम का पाठ कराएं।
  • गरीब या भिखारियों को अन्न का दान करें।

तत्व: अग्नि

गुणवत्ता: स्थिर

रंग: सुनहरा, नारंगी, सफेद, लाल

दिन: रविवार

स्वामी: सूर्य

सबसे बड़ी समग्र संगतता: मेष, धनु

विवाह और भागीदारी के लिए उत्तम: कुंभ

भाग्य अंक: 1, 4, 10, 13, 19, 22

मेष राशिफल | Aries horoscope | mesh rashifal in hindi
वृषभ राशिफल | Taurus horoscope | vrshabh rashifal in hindi
मिथुन राशिफल | Gemini horoscope | mithun rashifal in hindi
कर्क राशिफल | Cancer horoscope | kark rashifal in hindi
सिंह राशिफल | Leo Horoscope | singh rashifal in hindi
कन्या राशिफल | Virgo Horoscope | kanya rashifal in hindi
तुला राशिफल | Libra Horoscope | tula rashifal in hindi
वृश्चिक राशिफल | Scorpio horoscope | vrshchik rashifal in hindi
धनु राशिफल | Sagittarius horoscope | dhanu rashifal in hindi
मकर राशिफल | Capricorn horoscope | makar rashifal in hindi
कुंभ राशिफल | Aquarius horoscope | kumbh rashifal in hindi
मीन राशिफल | Pisces horoscope | meen rashifal in hindi

You might also like