Times Bull
News in Hindi

Raksha Bandhan 2017: इस बार केवल पौन घंटे का होगा रक्षाबंधन का महूर्त, रहेगा चंद्रग्रहण

रक्षाबंधन 7 अगस्त का है। हालांकि इस बार रक्षाबंधन के पूर्व पर भद्रा व चंद्र ग्रहण का साया रहेगा। यानी कि इस बार ग्रहण होने के कारण बहनों को राखी बांधने के लिए केवल 2 घंटे 47 मिनट का ही समय मिल सकेगा। आपको बता दें कि खंडग्रास चंद्रग्रहण पूरे देश में लगभग 2 घंटे तक दिखाई देगा।

रक्षाबंधन पर चंद्रग्रहण, यह रहेगा महूर्त

रक्षाबंधन पर सोमवार को ग्रहण रात 10.33 बजे शुरू होकर रात 12.48 बजे खत्म होगा। ग्रहण का सूतक काल दोपहर 1.55 मिनट से शुरू हो जाएगा। शास्त्रानुसार सूतक व भद्राकाल में राखी नहीं बांधी जाती। वहीं सूतक काल लगने के बाद बहने राखी नहीं बांध सकती। इससे पहले सुबह 11.05 बजे तक भद्राकाल रहेगा। बहने भद्राकाल खत्म होने व सूतक शुरू होने के बीच 2 घंटे 47 मिनट में ही राखी बांध सकेंगे।

9 वर्ष बाद होगा ऐसा

इस बार रक्षाबंधन पर चंद्रग्रहण का योग 9 साल बाद बना है। इससे पहले 16 अगस्त 2008 में ही रक्षाबंधन पर खंडग्रास चंद्रग्रहण हुआ था। ग्रहण के समय मकर राशि स्थित चंद्रमा पर सूर्य व चीन राशि में स्थित मंगल और शनि की कुदृष्टि रहेगी। यह अराजकता, लूटपाट, अपहरण व फसलों के लिए नुकसानदेह होगी।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.