Times Bull
News in Hindi

Maha Shivratri 2018: महाशिवरात्रि का व्रत, पूजा, शुभ मुहूर्त, व्रत कथा, तिथि, शिवजी को खुश करने के तरीके

Maha Shivratri 2018: महाशिवरात्रि का व्रत, महाशिवरात्रि पूजा, महाशिवरात्रि शुभ मुहूर्त, महाशिवरात्रि पूजन विधि, महाशिवरात्रि व्रत कथा, महाशिवरात्रि तिथि, शिवजी को खुश करने के तरीके, महाशिवरात्रि 2018, महाशिवरात्रि व्रत के दिन भूलकर भी न करें यह गलतियां

Maha Shivratri 2018 : महाशिवरात्रि हिंदुओं का प्रमुख त्योहार माना जाता है, हिंदू कैलेंडर के फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को शिवरात्रि का उत्सव मनाया जाता है।महाशिवरात्रि यानी शिव की दिव्यरात जिसके बारे में कहा जाता है कि प्रलय काल में इसी दिन शिव (Shiv) प्रलयंकारी रूप धारण करके सृष्टि का अंत कर देंगे। वहीं अन्य पौराणिक कथाओं के अनुसार कहा जाता है कि इस दिन भगवान शिव का विवाह माता पार्वती के साथ हुआ था।शिवपुराण में बताया गया है कि शिवजी ने सृष्टि का आरंभ किया है और यही संहारक हैं देवी पार्वती इनकी शक्ति हैं।

( Maha shivratri Festival ) महाशिवरात्रि शिव और शिवा यानी पुरुष और प्रकृति के मिलन का दिन है जो सृष्टि का आधार है। इस दिन शिवलिंग के रुद्राभिषेक का महत्व माना जाता है और इस दिन भगवान शिव के पूजन और व्रत से सभी रोग और शारीरिक दोष समाप्त हो जाते हैं। ( Celebrate Maha Shivratri ) वर्ष भर में 12 शिवरात्रियां आती हैं, हर माह की चौदहवीं तिथि को मासिक शिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है लेकिन फाल्गुन माह की शिवरात्रि को सबसे प्रमुख और महत्वपूर्ण ( Happy Maha Shivratri) माना जाता है।

maha shivratri,powerful shiva mantra,dharma karma,how to worship shiva, maha shivratri puja muhurat and puja vidhi in hindi, mahashivratri 2018, maha shivratri 2018, maha shivratri puja muhurat 2018, maha shivratri puja muhurat, महाशिवरात्रि पूजा मुहूर्त और विधि 2018, महाशिवरात्रि पूजा मुहूर्त और विधि 2018, महाशिवरात्रि, महाशिवरात्रि 2018, महाशिवरात्रि पूजा मुहूर्त, महाशिवरात्रि पूजा मुहूर्त 2018, महाशिवरात्रि पूजा विधि
महाशिवरात्रि पूजा मुहूर्त और विधि 2018

संसार के चारों पुरुषार्थ धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष शिव और शिवा के पूजन से प्राप्त हो जाते हैं। महाशिवरात्रि दो ऊर्जाओं के मिलन का दिन है यानी पूर्णता का दिन है इसलिए इस दिन शिव और देवी पर्वती की पूजा से सभी मनोरथपूर्ण होते हैं ऐसा पुराणों में बताया गया है।

Maha shivratri ki hardik subhkamanye and badhai

महाशिवरात्रि पर शुभ संयोग

maha shivratri puja muhurat : इनकी पूजा और व्रत का विस्तार से वर्णन शिवपुराण में किया गया है। लेकिन संक्षिप्त में गृहस्थों के लिए आसान पूजा विधि क्या है वह जान लीजिए। इस वर्ष 13 फरवरी को महाशिवरात्रि के साथ संक्रांति भी है जिसका पुण्यकाल 9 बजकर 11 मिनट तक होने के कारण इस समय स्नान करके शिवजी का अभिषेक करना अधिक शुभफलदायी रहेगा।

महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव का अभिषेक अनेक प्रकारों से किया जाता है, कई लोग जल से अभिषेक करते हैं और कुछ दुग्ध अभिषेक करते हैं। मंदिर में इस दिन भक्तों की भीड़ लगी रहती है और भक्त सूर्योदय के समय पवित्र स्थानों पर स्नान करते हैं। पवित्र स्नान करने के बाद भक्त मंदिर में जाकर भगवान शिव के साथ विष्णु की स्तुति भी करते हैं। शिवरात्रि की रात जागरण करने की मान्यता भी होती है। शिवरात्रि के पर्व पर मंदिरों से भगवान शिव की ढोल आदि के साथ बारात निकाली जाती है जो माता के मंदिर में विवाह विधि के लिए जाती है। कई स्थानों पर मंडप लगाकर शिव-पार्वती का विवाह भी करवाया जाता है।

Maha Shivratri shubh mahurat, mahashivratri vrat vidhi in hindi, Pooja, vrat katha, maha shivratri ka tarika, Celebrate Maha Shivratri, shivji pujan in hindi
Maha Shivratri shubh mahurat, mahashivratri vrat vidhi in hindi, Pooja, vrat katha, maha shivratri ka tarika, Celebrate Maha Shivratri, shivji pujan in hindi

भगवान शिव की उपासना में इस दिन व्रत करने की मान्यता होती है। कुंवारी कन्याएं इस दिन भगवान शिव जैसे वर की इच्छा करते हुए व्रत करती हैं, माना जाता है कि इससे उन्हें सुवर की प्राप्ति होती है। शिवरात्रि के दिन विवाहित स्त्रियों के व्रत करने के लिए माना जाता है कि इसस उनके पति का जीवन और स्वास्थ्य हमेशा अच्छा रहता है। इस दिन भगवान शिव की उपासना जल और बेल पत्रों के द्वारा की जाती है।

महाशिवरात्रि व्रत कथा

mahashivratri vrat katha : व्रत कथा में एक शिकारी की कहानी बहुत ही प्रचलित है। शिकारी जंगल में एक पेड़ पर जाकर बैठ गया और शिकार का इंतजार करने लगा। रात हो गई लेकिन कोई शिकार नहीं मिला। भूख और भय से उसे नींद भी नहीं आ रही थी। संयोग से वह जिस पेड़ पर बैठा था वह बेल का पेड़ था और दिन महाशिवरात्रि का था।

शिकार का इंतजार करते हुए वह बेल के पत्तों को तोड़कर नीचे फेंक रहा था ताकि उसे नींद ना आए। देर रात उसे एक के बाद एक तीन हिरण मिले लेकिन तीनों ने शिकारी को ऐसी बातें बताई की शिकारी उन्हें मार नहीं पाया। सुबह उसे पता लगा कि जहां वह बेलपत्र फेंक रहा था वहां एक शिवलिंग था। इस तरह अनजाने में शिकारी से महाशिवरात्रि का व्रत हो गया और उसे मोक्ष की प्राप्ति हुई।

आप पर लगातार कर्ज बढ़ रहा है तो रुद्रसंहिता में बताया गया है कि महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव को चावल चढ़ाएं। इससे आपको कर्ज से मुक्ति मिलेगी। वहीं पके हुए चावलों से शिवलिंग का श्रृंगार कर पूजा करने से कुंडली का मंगल दोष शांत होता है।

शिव का मतलब होता है कल्याण इसलिए भगवान शिव को सभी का कल्याण करने वाला देवता माना जाता है। शिवपुराण के रुद्रसंहिता में बताया गया है कि महाशिवरात्रि पर शिवजी जी की पूजा के दौरान इन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। इससे न सिर्फ शिवजी की पूजा पूरी होती है बल्कि खुश होकर आशीर्वाद भी देते हैं। आइए जानते हैं कि शिव का अभिषेक किन चीजों से करने पर धन मिलता है और किन चीजों से संतान, आरोग्य और अन्य लाभ मिलते हैं।

महाशिवरात्रि पूजन विधि

mahashivratri vrat and pujan vidhi in hindi – लेकिन जो लोग व्रत रख रहे हैं वह दिन में कभी भी शिवजी का जल, गंगाजल, शहद, दूध, दही, घी, गन्ने के रस से अभिषेक कर सकते हैं। इनसे शिवजी का अभिषेक मनोकामना पूर्ण करने वाला माना गया है।

भगवान शिव का श्रीखंड चंदन से तिलक करें। मंत्र बोलें- इदं श्रीखंड चंदनम् लेपनम ओम नमः शिवाय नमः

अटूट कच्चा चावल जिसे अक्षत कहा जाता है भगवान शिव को ‘इदं अक्षतम् ओम नमः शिवाय’ बोलकर शिवलिंग पर चढाएं।

‘इदं विल्वपत्रम् ओम नमः शिवाय’ बोलकर तीन पत्तों वाला बेल का पत्ता अर्पित करें।

इसके बाद उपलब्ध हो तो आक और धतूरा शिवलिंग पर चढाएं।

पूजन के बाद जितना संभव हो ओम नमः शिवाय मंत्र का जप करें।

व्रत रखने वाले के लिए इस दिन शिव कीर्तन और शिवपुराण का पाठ करना और सुनना उत्तम फलदायी माना गया है। इस दिन शिव विवाह का प्रसंग विशेष रूप से सुनना चाहिए।

रात्रि में शिव की पूजा करें। महाशिवरात्रि व्रत का विधान है कि इसका परायण चतुर्दशी में ही कर लेना चाहिए।

Happy Maha Shivratri, Mahashivratri SMS In Hindi 140 Words, Cool New And Latest Shiva Ratri SMS Collection, Happy Maha Shivratri SMS Greetings In Hindi, Shivratri Wishes And Quotes Hindi, Maha Shivratri Wishes SMS 140 Words Hindi, Shivratri Messages In Hindi, Maha Shivratri SMS In Hindi, Maha shivaratri 2018, special puja vidhi, mahashivratri, maha shivratri, maha shivratri 2017, महाशिवरात्रि 2017 पूजा विधि, महाशिवरात्रि 2017, maha shivratri puja, महाशिवरात्रि पूजा विधि, maha shivratri puja vidhi in hindi, maha shivratri puja, maha shivratri puja time, mahashivratri puja muhurat, MahaShivratri Puja Time, shivratri puja vidhi in hindi, shivratri puja vidhi, lifestyle latest updates

महाशिवरात्रि व्रत कई तरह से किए जाते हैं कुछ लोग निर्जल रहते हैं। कुछ एक समय फल खाकर व्रत करते हैं। कुछ लोग चार प्रहर का व्रत रखकर यानी संध्या पूजन के बाद भोजन कर लेते हैं। आप अपनी श्रद्धा और सुविधानुसार जैसे चाहें व्रत रख सकते हैं।

रुद्रसंहिता में बताया गया है कि महाशिवरात्रि के दिन व्रतधारी अगर शिवलिंग का भस्म से अभिषेक करे तो सुख समृद्धि के साथ-साथ दिव शक्तियां प्राप्त होती हैं।

अगर आपके घर में बच्चे की किलकारी अभी तक नहीं गूंजी तो पति-पत्नी दोनों महाशिवरात्रि का व्रत रखें। साथ ही शुद्ध घी से शिवलिंग का अभिषेक करें। ब्राह्मणों के साथ गरीब और जरूरतमंद को भोजन कराएं। संतान सुख की बाधा दूर होगी ऐसा शिवपुराण कहता है।

अगर किसी रोग से हर प्रयास के बाद भी मुक्ति नहीं मिल रही तो जल में दूध के साथ सफेद तिल मिलाकर शिवलिंग पर चढ़ाने से सभी बीमारियां दूर हो जाती हैं। आरोग्य सुख के लिए इसे उत्तम माना गया है।

आप पर लगातार कर्ज बढ़ रहा है तो रुद्रसंहिता में बताया गया है कि महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव को चावल चढ़ाएं। इससे आपको कर्ज से मुक्ति मिलेगी। वहीं पके हुए चावलों से शिवलिंग का श्रृंगार कर पूजा करने से कुंडली का मंगल दोष शांत होता है।

महाशिवरात्रि के दिन अगर शिवजी की तिल से पूजा की जाए तो बड़े से बड़ा पाप का अंत हो जाता है। वहीं अगर आप जौ से शिवजी की पूजा करते हैं तो शिवपुराण के अनुसार पितृगणों का आशीर्वाद मिलता है।

शिवपुराण के रुद्रसंहिता में बताया गया है कि महाशिवरात्रि के दिन गेहूं के बने हुए पकवान से शंकरजी की पूजा करना बहुत है। यदि आप पूरे श्रद्धाभाव से भगवान की पूजा करते हैं तो इससे घर की आर्थिक स्थिती तो ठीक होती ही है साथ ही संतान के मामले में आपको कोई परेशानी नहीं होती है।

महाशिवरात्रि के दिन गंगाजल से शिवलिंग का अभिषेक करने से सुख, समृद्धि और संतान सुख की प्राप्ति होती है।

महाशिवरात्रि व्रत के दिन भूलकर भी न करें यह गलतियां

महाशिवरात्रि के दिन अगर आप व्रत रख रहे हैं तो अाप नमक, तेल, मसाले से बनी चीजों को नहीं खा सकते हैं अगर आपको व्रत के समय भूख लगती है। तो आप कुछ मीठा खा सकते हैं। और फलाहार भी कर सकते है। अगर आपने धोखे से भी नमक, तेल, मसाले से बनी चीजों को खा लीं। तो भगावन शिव आपसे नाराज हों जाएंगे जिससे आपके जीवन में कष्ट भी आ सकते हैं। इसलिए आप व्रत के समय पूरी तरह से सावधानी रखें जिससे आपके जीवन में किसी प्रकार का कोई कष्ट न आए।

mahashivratri 2018,maha shivaratri sadhana,maha shivaratri 2018 date, Lord Shiva,maha shivratri,bholenath,Pooja Vidhi for Maha Shivratri
mahashivratri 2018,maha shivaratri sadhana,maha shivaratri 2018 date, Lord Shiva,maha shivratri,bholenath,Pooja Vidhi for Maha Shivratri

मनोकामनाएं पूरी करने के लिए रखें यह व्रत

महाशिवरात्रि के दिन सभी लोग सुबह जल्दी उठें और स्नान कर भगवान शिव को भी दूध से स्नान कराएं। भोलेनाथ की पूजा करें, भोग लगाएं, और पूरे दिन भगवान शिव के भजन, कीर्तन भी गाएं और शिवशम्भू को प्रसन्न करने के लिए पूरे दिन व्रत भी रखें। जिससे भगवान शिव उनके सारे कष्टों को हर लेगें। महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की पूरी कहानी सुनें। भगवान शिव का व्रत रखने से सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है। जो भी अपनी सारी मनोकामनाएं पूरी करना चाहता है तो वो अपनी सारी मनोकामनाएं पूरी करने के लिए भगवान शिव का व्रत रखें और उनकी पूरी कहानी सुनें।

Happy Maha Shivratri, Mahashivratri SMS In Hindi 140 Words, Cool New And Latest Shiva Ratri SMS Collection, Happy Maha Shivratri SMS Greetings In Hindi, Shivratri Wishes And Quotes Hindi, Maha Shivratri Wishes SMS 140 Words Hindi, Shivratri Messages In Hindi, Maha Shivratri SMS In Hindi
Happy Maha Shivratri, Mahashivratri SMS In Hindi 140 Words, Cool New And Latest Shiva Ratri SMS Collection, Happy Maha Shivratri SMS Greetings In Hindi, Shivratri Wishes And Quotes Hindi, Maha Shivratri Wishes SMS 140 Words Hindi, Shivratri Messages In Hindi, Maha Shivratri SMS In Hindi

महाशिवरात्रि ये हैं शुभ मुहूर्त

1. वर्ष 2018 में महाशिवरात्रि का पर्व 13 या 14 फरवरी 2018, को मनाया जाएगा।
2. इस दिन शिवरात्रि निशिता काल पूजा का समय 24:09 से 25:01 तक रहेगा। मुहूर्त की अवधि कुल 51 मिनट की है।
3. 14 तारीख को महाशिवरात्रि पारण का समय 07:04 से 15:20 तक रहेगा।
4. रात्रि पहले प्रहर पूजा का टाइम = 18:05 से 21:20 तक
5. रात के दूसरा प्रहर में पूजा का टाइम = 21:20 से 24:35 तक
6. रात्रि तीसरा प्रहर पूजा का टाइम = 24:35+ से 27:49 तक
7. रात्रि चौथा प्रहर पूजा का टाइम = 27:49+ से 31:04 तक
8. चतुर्दशी तिथि 13 फरवरी 2018, मंगवलार 22:34 से प्रारंभ होगी जो 15 फरवरी 2018, 00:46 बजे खत्म होगी।

महाशिवरात्रि को करे इन श‍िव जी के मूल मंत्र का जाप

– सोमवार को शिवलिंग पर जल चढ़ाए और ॐ नमः शिवाय मंत्र का 108 बार जाप करें। इससे आपसे सभी दुख दूर होते हैं।

– भगवान शंकर के शिवलिंग पर अगस्त्य फूलों को चढ़ाते हुए ऊं नमः रुद्राय मंत्र का जाप करें। इससे आपका जीवन ऐश्वर्य से परिपूर्ण होगा।

– रुद्राक्ष की माला पर प्रतिदिन 11 माला (108 बार का एक माला होता है) का जाप करें। इससे आप भय मुक्त होते हैं और भगवान शिव आपके सभी बाधाओं को हर लेते हैं।

– सुबह श्वेत वस्त्र धारण करके शिवलिंग पर महादेवाय नमः मंत्र का जाप करें। इससे भगवान शंकर के साथ देवी लक्ष्मी भी प्रसन्न होती है और ऐसा करने से भगवान भक्तों को धन-धान्य से परिपूर्ण करते हैं।

– शिवलिंग पर दूध, गंगाजल, दुर्वा और बेलपत्र चढ़ाकर शिव मंत्र ॐ नमः शिवाय का जाप करने से आयु में वृद्धि होती है।

– भगवान शिव की पूजा करते समय ऊं नमो भगवते रुद्राय मंत्र का जाप करने से भक्त को मोक्ष की प्राप्ति होती है।

– ॐ नमः शिवाय का 108 बार प्रतिदिन उच्चारण और भगवान शंकर की पूजा आपको हर बाधाओं से मुक्ति दिलाता है।

– धन प्राप्ति के लिए शिवलिंग पर बेल पत्र अर्पित करते हुए ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप करें। फिर भोलेनाथ की विधिवत आरती करें। ऐसी मान्यता है कि ऐसा करने से मनचाहे धन की प्राप्ति होगी।

शुभ महाशिवरात्रि पर आपने मित्रो और परिवार वालो को भजे ये महाशिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनये और बधाई संदेश

शंकर की ज्योति से नूर मिलता है;
भक्तों के दिलों को सकूं मिलता है;
शिव के द्वार आता है जो भी;
सबको फल जरूर मिलता है।
शुभ महाशिवरात्रि।

ॐ में ही आस्था,
ॐ में ही विश्वास,
ॐ में ही शक्ति,
ॐ में ही सारा संसार,
ॐ से होती है अच्छे दिन कि शुरुवात
बोलो ॐ नमः शिवाय…
हैप्पी शिवरात्रि!
जय भोलेनाथ…

भक्ति में है शक्ति बंधू,
शक्ति में संसार हैं,
त्रिलोक में है जिसकी चर्चा,
उन शिव जी का आज त्यौहार हैं.
महा शिवरात्रि 2018 की शुभकामनाए

सारा जहाँ है जिसकी शरण में नमन है,
उस शिव जी के चरण में,
बने उश शिवजी के चरणों की धुल,
आओ मिल कर चढ़ाये हम श्रद्धा के फूल,
Happy Maha ShivRatri

 शिव की ज्योति से नूर मिलता है,
सबके दिलो को सुरूर मिलता हैं,
जो भी जाता है भोले के द्वार,
कुछ न कुछ ज़रूर मिलता हैं.

 May Lord Shiva answers all your prayers,
Have a blessed Mahashivratri.
!!..Om Namah Shivaya..!!

मेरे शिव शंकर भोले नाथ,
बाबा अपने सभी भक्तों की हर मनो कामना पूरी करना,
और उन पर अपना आशीर्वाद बनाये रखना.
जय शिव शम्बू भोले नाथ…

भोले के लीना में मुझे डूब जाने दो,
शिव के चरणों में शीश झुकाने दो,
आई है शिवरात्रि मेरे भोले बाबा का दिन,
आज के दिन मुझे भोले के गीत गाने दो.

Om Mein Hi Aastha, Om Mein Hi Vishwas,
Om Mein Hi Shakti, Om Mein Hi Sansar,
Om Se Hi Hoti Hai Achhe Din Ki Shuruaat,
Bolo – ॐ Om Namha Shivay ॐ
Maha Shivratri ki hardik subhkamanye

Let’s spend the night of Shivaratri by
chanting the name of Lord Shiva and
seek His divine blessings..!
** Happy Maha Shivratri **

Maha Shivratri Quotes in Hindi

शिव की महिमा अपरम्पार,
शिव करते सबका उधार,
उनकी कृपा आप पर सदा बनी रहे,
और भोले शंकर आपके जीवन में खुशियाँ ही खुशियाँ भर दे.

जगह-जगह में शिव हैं हर जगह में शिव है,
है वर्तमान शिव और भविष्य भी शिव हैं,
आप सभी को महा शिवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाए.

ना पूछो मुझसे मेरी पहचान,
मैं तो भस्मधारी हूँ,
भस्म से होता जिनका श्रृंगार,
मैं उस महाकाल का पुजारी हूँ.
शुभ शिवरात्रि के बहुत बधाई…

Maha Shivratri Whatsapp Sms

Bless us with the happy &
peaceful life with noble wisdom.
May there be peace in every home.!

शिव की बनी रहे आप पर छाए,
पलट दे जो आपकी किस्मत की काया,
मिले आपको वो सब इस अपनी ज़िन्दगी में,
जो कभी किसी ने भी ना पाया.

भोले बाबा का आशीर्वाद मिले आपको,
उनकी दुआ का परसाद मिले आपको,
आप करे अपनी ज़िन्दगी में इतनी तरक्की,
हर किसी का प्यार मिले आपको.

maha shivratri mantra and puja vidhi video hindi

महाशिवरात्रि आरती – maha shivratri aarti in hindi

शिवजी की आरती

ॐ जय शिव ओंकारा, स्वामी जय शिव ओंकारा।
ब्रह्मा, विष्णु, सदाशिव, अर्द्धांगी धारा॥
ॐ जय शिव ओंकारा॥

एकानन चतुरानन पञ्चानन राजे।
हंसासन गरूड़ासन वृषवाहन साजे॥
ॐ जय शिव ओंकारा॥

दो भुज चार चतुर्भुज दसभुज अति सोहे।
त्रिगुण रूप निरखते त्रिभुवन जन मोहे॥
ॐ जय शिव ओंकारा॥

अक्षमाला वनमाला मुण्डमाला धारी।
त्रिपुरारी कंसारी कर माला धारी॥
ॐ जय शिव ओंकारा॥

श्वेताम्बर पीताम्बर बाघम्बर अंगे।
सनकादिक गरुणादिक भूतादिक संगे॥
ॐ जय शिव ओंकारा॥

कर के मध्य कमण्डलु चक्र त्रिशूलधारी।
सुखकारी दुखहारी जगपालन कारी॥
ॐ जय शिव ओंकारा॥

ब्रह्मा विष्णु सदाशिव जानत अविवेका।
मधु-कैटभ दोउ मारे, सुर भयहीन करे॥
ॐ जय शिव ओंकारा॥

लक्ष्मी व सावित्री पार्वती संगा।
पार्वती अर्द्धांगी, शिवलहरी गंगा॥
ॐ जय शिव ओंकारा॥

पर्वत सोहैं पार्वती, शंकर कैलासा।
भांग धतूर का भोजन, भस्मी में वासा॥
ॐ जय शिव ओंकारा॥

जटा में गंग बहत है, गल मुण्डन माला।
शेष नाग लिपटावत, ओढ़त मृगछाला॥
ॐ जय शिव ओंकारा॥

काशी में विराजे विश्वनाथ, नन्दी ब्रह्मचारी।
नित उठ दर्शन पावत, महिमा अति भारी॥
ॐ जय शिव ओंकारा॥

त्रिगुणस्वामी जी की आरति जो कोइ नर गावे।
कहत शिवानन्द स्वामी, मनवान्छित फल पावे॥
ॐ जय शिव ओंकारा॥

महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर भगवान शिव आप की हर मनोकामना पूर्ण करे। शिव जी का आशीर्वाद आप पर और आप के परिवार पर सदैव बना रहे है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.