Times Bull
News in Hindi

लाल किताब के अचूक टोटके : हमेशा सुखी रहने के लिए करें ये उपाय

दुनिया में कोई भी दुखी नहीं रहना चाहता, यही वजह है कि हर व्यक्ति हर समय सुख के पीछे भागता है। जहां कुछ लोगों को खुशियां आसानी से मिल जाती हैं, वहीं कुछ लोगों को अपने जीवन में सुख के लिए तरसना पड़ता है। लाल किताब में सदा सुखी रहने के कुछ टोटके उपलब्ध हैं। ज्योतिषियों के मुताबिक लाल किताब के टोटके तांत्रिक प्रकृति के होते हैं और तुरंत प्र्रभाव भी दिखाते हैं, लेकिन इन्हें पूरी श्रद्धा से करने की आवश्यकता होती है। यहां जानें सदा सुखी रहने के लाल किताब के कुछ अचूक उपाय –

Read More – कभी न करें इन चीजों को दान, अपके जीवन पर आ जाएगा संकट

Read More – घर में रोज जलाएं एक तेज पत्ता, असर देखकर आप नहीं करेंगे आंखों पर यकीन

सौभाग्य की वृद्धि के लिए टोटके

1. किसी नजदीकी मंदिर में भिखारियों, कुत्ते या अन्य जरूरतमंदों को खाना दान करें। अगर यह संभव न हो तो अपने घर पर ही पक्षियो के लिए पीने के पानी का परिंडा बांधें।

2. हर दिन कम से कम एक रुपया जनकल्याण के लिए जरूर खर्चें। आप एक गुल्लक बना सकते हैं, जिसमें रोजाना का न्यूनतम एक रुपया डालें, महीने के आखिर में इस गुल्लक के पैसे निकाल कर किसी जरूरतमंद को दान करें।

3. शराब, मांस व अनावश्यक हिंसा से दूर रहें। विशेष तौर पर जब राहु या शनि की दशा चल रही हो, इनका प्रयोग मनुष्य को खत्म कर देता है।

4. घर से निकलते समय भगवान के दर्शन करके निकलें। इससे रास्ते में होने वाले सभी अनिष्ट टल जाते हैं।

अकाल मृत्यु या बीमारी टालने के टोटके

1. इर दिन हनुमानजी की प्रतिमा के सामने बैठ कर इस श्लोक का जाप करें। कम से कम एक माला का जाप जरूर करें – नाम पाहरु दिवस निसि ध्यान तुम्हार कपाट।
लोचन निज पद जंत्रित जाहिं प्रान केहि बाट।।

2. महामृत्युंजय मंत्र का नियमित रूप से जाप करें। अगर रोग अपनी अंतिम अवस्था में है तो कोई महामृत्युंजय का सवा लाख जप का अनुष्ठान कराने से राहत मिलती है, परंतु उपाय समय रहते हो जाना चाहिए।

जीवन में बरतें ये सावधानियां –

1. घर के आसपास पीपल का वृक्ष नहीं होना चाहिए, क्योंकि इस पर प्रेतों का वास होता है।

2. चमेली, गूलर, शीशम, मेहंदी, बबूल, कीकर आदि के वृक्षों पर भी प्रेतों का वास होता है। रात को इन पेड़ों के पास नहीं जाना चाहिए।

3. हाथ से छूटा हुआ या जमीन पर गिरा हुआ भोजन या खाने की कोई भी चीज खुद न खाएं।

4. अग्नि व जल का अपमान न करें और न ही अग्नि व जल का कभी लांघें।

5. महिलाओं को माहवारी के दिनों में चौराहे के बीच से नहीं जाना चाहिए, न ही उन्हें चमेली जैसे खुशबूदार पेड़ों के पास जाना चाहिए।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.