Times Bull
News in Hindi

ये है दुनिया का सबसे डरावना चर्च, अंदर कदम रखते ही कांप उठेगी रूह

क्या आपको पता है कि दुनिया में एक ऐसा भी चर्च है जो मरे हुए आदमियों की खोपड़ी से बना है। जी हां, ये बात बिल्कुल सच है। दरअसल चेक रिपब्लिक में बना एक रोमन कैथोलिक चर्च ‘सेडलेक औसुएरी’ सबसे अलग है। ये दुनिया का सबसे डरावना चर्च है। इसे डरावना इसलिए कहा जाता है, क्‍योंकि इस चर्च की सजावट इंसानी हड्डियों और खोपड़ियों से की गई है। इसे सजाने के लिए 70 हजार कंकालों का इस्तेमाल किया गया है।

15वीं शताब्दी के दौरान युद्धों में मारे गए लोगों के हैं ये कंकाल

चर्च में इस्तेमाल की गए इंसानी कंकाल प्लेग से पीड़ितों और 15वीं शताब्दी के दौरान युद्धों में मारे गए लोगों के हैं। इस चर्च को सजाने के लिए खोपड़ी से लेकर इंसानी उंगली तक का इस्तेमाल किया गया है। चर्च में लगे झूमर भी हड्डियों से बने हैं। जहां कुछ लोगों को इस चर्च में आकर डर लगता है तो वहीं कुछ लोगों को यहां आकर शांति मिलती है।

चर्च को कंकाल से सजाने के पीछे है अनोखी कहानी

चर्च को इस अनोखे रूप में सजाने के पीछे एक अनोखी कहानी है। 1278 ईं. में जेरुसलेम की पवित्र धरती से यहां मिट्टी लाई गई थी। लोगों की इच्छा थी कि मरने के बाद उन्हें पवित्र जगह ही दफनाया जाए। इसी कारण उन्हें इस चर्च में दफनाया गया और अब उनकी हड्डियों को इस जगह को सजाने में इस्तेमाल किया जाता है। ये चर्च प्रसिद्ध हॉलीवुड फिल्म Pirates of the Caribbean के सेट जैसा दिखता है।

बता दें कि चेक रिपब्लिक यूरोप महाद्वीप में स्थित एक देश है। इसकी उत्तर पूर्वी सीमा पर पोलैन्ड, पश्चिमी सीमा पर जर्मनी, दक्षिण में ऑस्ट्रिया और पूर्व में स्लोवाकिया है। इसकी राजधानी है प्राग। यहां वैसे तो कई चर्च हैं, लेकिन रोमन कैथोलिक चर्च ‘सेडलेक औसुएरी’ अपनी खास सजावट की वजह से आकर्षण का क्रेंद बना है।

Loading...