Times Bull
News in Hindi

174 साल बाद ब्लू मून ग्रहण, बनेंगे 3 दुर्लभ संयोग, शाम 5:20 बजे से चंद्रग्रहण…

2018 का पहला पूर्ण चंद्रग्रहण बुधवार को है। इसमें एक साथ सुपरमून, ब्लूमून और ब्लड मून की स्थिति बन रही है। भारत से दिखने वाला ब्लू मून पूर्ण ग्रहण 174 साल बाद होने जा रहा है। ऐसा 31 मई 1844 और 31 दिस. 1656 को हुआ था। तब ये ग्रहण भारत में भी दिखे थे। शाम 5:20 बजे से शुरू होने वाला पूर्ण ग्रहण 3 घंटे 24 मिनट का होगा और पूरे देश में दिखेगा।
उदय के साथ ही लगेगा ग्रहण

भारतीय ताराभौतिकी संस्थान के प्रो. रमेश कपूर ने बताया, भारत में उदय के साथ ही चंद्रमा को ग्रहण लगा होगा। दिल्ली में चंद्रमा 17:55 बजे उदित होगा। आंशिक ग्रहण 17:18 बजे से और पूर्ण ग्रहण 18.21 बजे होगा। पूर्ण ग्रहण के समय चंद्रमा का रंग भूरा होगा।

ब्लड मून

पृथ्वी की छाया पूरे चंद्रमा को ढक दे फिर भी सूर्य की कुछ किरणें धरती के वायुमंडल से होकर चांद तक पहुंचती हैं। बिखरी किरणें चांद पर पड़ती हैं तो चांद लाल रंग दिखता है।

तीन साल पहले…

ब्लू मून: 1 माह में 2 पूर्णिमा हों तो ब्लू मून होता है। 2 और 31 जन. को पूर्णिमा है। चांद नीला नहीं दिखता, दुर्लभ स्थिति के कारण ऐसा कहते हैं।

सुपर मून: पूर्ण ग्रहण के समय चंद्रमा पृथ्वी के निकटतम बिंदु के करीब होगा। इससे चांद सामान्य से बड़ा और चमकीला दिखेगा।

28 सितम्बर 2015 पूर्ण चंद्रग्रहण हुआ और भारत से भी देखा गया।

छह महीने बाद…

अगला चंद्रग्रहण 27/28 जुलाई 2018 की रात को होगा और भारत से दिखाई देगा।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.