Times Bull
News in Hindi

ज्‍योतिष के अनुसार जानिए किस अंग पर छिपकली गिरना अशुभ और शुभ

ज्‍योतिष के मुताबिक, पुरुषों के बाएं और स्त्रियों के दाहिने अंगों पर छिपकली गिरना अशुभ होता है। वहीं पुरुषों के दाहिने और स्‍त्रियों के बायें अंगों पर छिपकली गिरना शुभ माना जाता है। ऐसी अवस्‍था में उस स्‍थान को पानी से धो लेना चाहिए, क्‍योंकि छिपकली की त्‍वचा से निकलने वाला पसीना जहर के समान होता है।

– छिपकली अगर माथे पर गिरती है तो संपत्ति मिलने की संभावना बढ़ जाती है।

– यदि छिपकली आपके बालों पर गिरती है, इसका मतलब मृत्यु सामने खड़ी है।

– दाहिने कान पर छिपकली का गिरना यानी आभूषण की प्राप्ति होगी। बाएं कान पर छिपकली का गिरना यानी आयु वृद्धि।

– नाक पर छिपकली गिरना यानी जल्‍द ही भाग्‍योदय होगा।

– मुख पर छिपकली गिरना यानी मधुर भोजन की प्राप्ति होगी।

– बाएं गाल पर छिपकली गिरना यानी पुराने मित्र से मुलाकात होगी। दाहिने गाल पर छिपकली गिरना यानी आपकी उम्र बढ़ेगी।

– गर्दन पर छिपकली गिरने का मतलब यश की प्राप्ति होगी।

– दाढ़ी पर छिपकली गिरने का मतलब आपके सामने जल्‍द ही कोई भयावह घटना हो सकती है।

– मूंछ पर छिपकली गिरना यानी सम्‍मान की प्राप्ति।

– भौंह पर छिपकली गिरना यानी धन हानि।

– दाहिनी आंख पर छिपकली गिरने का मतलब किसी दोस्‍त से मुलाकात होगी। बाईं आंख पर छिपकली गिरने का मतलब जल्‍द ही कोई बड़ी हानि होगी।

– कंठ पर छिपकली गिरने का मतलब शत्रुओं का नाश होगा।

– दाहिने कंधे पर छिपकली गिरने पर विजय की प्राप्ति होती है। बाएं कंधे पर अगर छिपकली गिरे तो नए शत्रु बनते हैं।

– दाहिनी भुजा पर छिपकली गिरे तो धन लाभ मिलता है। बायीं भुजा पर छिपकली गिरने से संपत्ति छिनने की आशंका बढ़ती है। दाहिनी हथेली पर छिपकली गिरने से कपड़े मिलते हैं। बाईं हथेली पर छिपकली गिरने पर धन की हानि होती है।

– छाती के दाहिनी ओर छिपकली गिरने से जल्द ही ढेर सारी खुशियां मिलती हैं जबकि बाईं ओर गिरने से घर में ज्यादा क्लेश होता है।

– पेट पर छिपकली गिरने से आभूषण की प्राप्ति होती है।

– कमर के बीच में अगर छिपकली गिरे तो आर्थिक लाभ मिलता है। पीठ पर दाहिनी ओर छिपकली गिरने से सुख मिलता है जबकि बाईं तरफ छिपकली गिरने का मतलब रोग का दस्तक देना है। पीठ पर बीच में अगर छिपकली गिरती है तो घर में कलह होती है।

– नाभि पर छिपकली गिरने से मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

– दाहिनी जांघ पर छिपकली गिरने से सुख मिलता है। वहीं बाईं जांघ पर छिपकली गिरने से दु:ख ही दु:ख यानी शारीरिक पीड़ा।

– दाहिने घुटने पर छिपकली गिरने से यात्रा का संयोग बनेगा। बाएं घुटने पर छिपकली गिरने का मतलब बुद्धि की हानि है।

– दाएं पैर या दाएं एड़ी पर छिपकली गिरना यानी यात्रा से लाभ मिलता है। बाएं पैर या बाईं एड़ी पर छिपकली गिरने से बीमारी या घर में कलह होगी। दु:ख मिलेगा। दाएं पैर के तलवे पर छिपकली गिरने का मतलब ऐश्वर्य की प्राप्ति है। वहीं बाएं पैर के तलवे पर छिपकली गिरने का मतलब व्यापार में हानि होगी।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.