खुशखबरी! आधार की वजह से बंद नहीं होंगे किसी के मोबाइल, सरकार ने दिया आश्वासन

50 करोड़ मोबाइल फोन कनेक्शन यानी देशभर में फोन इस्तेमाल करने वाले करीब आधे यूजर्स को केवाईसी से जुड़ी समस्या का समाधान हो गया है। टेलीकॉम विभाग और यूनिक आईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूआईडीएआई, आधार प्राधिकरण) ने गुरुवार को एक संयुक्त बयान जारी कर लोगों को आश्वस्त किया कि आधार के कारण लोगों के फोन बंद किए जाएंगे। जारी बयान में कहा गया कि कुछ मीडिया रिपोर्टस में 50 करोड़ लोगों के फोन बंद होने की जो खबरें चलाई जा रही हैं, वे पूरी तरह से काल्पनिक और निराधार हैं।

आपको बता दें कुछ दिन पहले सुप्रीम कोर्ट ने आधार मामले में सुनवाई करते हुए यह आदेश जारी किया था कि मोबाइल कंपनियां यूजर्स की पहचान के लिए आधार नंबर का इस्तेमाल नहीं कर सकतीं। जबकि देश के हालत यह है कि 50 करोड़ से ज्यादा नंबर आधार पर ही चल रहे हैं। इस बीच मीडिया में ऐसी खबरें आई थीं कि दूसरा कोई वैध डॉक्यूमेंट जमा न कराने पर आधार हटने के साथ ही मोबाइल नंबर बंद हो सकते हैं।

इस बारे में टेलीकॉम सचिव अरुणा सुंदरराजन ने अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि सरकार इसे लेकर फिक्रमंद है और समाधान की तलाश में लगी हुई है। सरकार यह प्रयास कर रही है कि आधार हटाने और कोई नया पहचान पत्र जमा कराने तक मोबाइल यूजर्स कोकिसी तरह की दिक्कत न हो। सुंदरराजन ने कहा, सरकार यह सुनिश्चित करना चाहती है कि यूजर्स को कम से कम परेशानी के साथ मामला सुलझ जाए। सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद अब यह माना जा रहा है कि मोबाइल कंपनियों को यूजर्स का आधार हटाना होगा। ऐसे में यूजर्स को अपना अलग कोई पहचान पत्र देकर केवाईसी करवानी पड़ेगी।