अगर आपके मोबाइल में है इन बैंकों के App तो हो जाएं सावधान, हो रहा है डेटा चोरी

आजकल इंटरनेट का दायरा बढ़ने की वजह से डिजिटल लेन-देन का चलन बहुत ज्यादा हो गया है। लगभग देश का हर बैंक आज मोबाइल बैंक‍िंग और नेट बैंकिंग की सुविधा प्रदान कर रहा है। इसी का फायदा उठाकर कुछ धोखाधड़ी करने वाले लोग आपकी निजी जानकारी चुराकर आपको नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं। आपको बता दें गूगल प्लेस्टोर पर स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, सिटी समेत कई शीर्ष बैंकों के ऐसे एप मौजूद हैं जो कि फर्जी हैं और उनसे इन बैंकों के हजारों ग्राहकों से जुड़े डाटा चोरी हो रहे हैं। इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी की सुरक्षा से जुड़ी कंपनी सोफोज लैब्स ने अपनी एक रिपोर्ट में यह दावा किया है।

प्लेस्टोर पर मौजूद है ये फर्जी एप

रिपोर्ट में बताया गया है कि इन फेक एंड्रॉइड एप का लोगो भी असली बैंक के लोगो की तरह ही नजर आता है जिसकी वजह से लोगों के लिए असली और नकली एप में फर्क करना मुश्किल हो रहा है। बतौर रिपोर्ट, एप में मौजूद मालवेयर संभवत हजारों उपभोक्ताओं के खाते से और क्रेडिट कार्ड से जुड़ी सूचनाएं चोरी कर चुके हैं और ऐसी आशंका है कि इन सूचनाएं का गलत इस्तेमाल हो सकता है। रिपोर्ट में जानकारी दी गई है कि भारतीय स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, सिटी बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा और यस बैंक के फर्जी एप प्लेस्टोर पर मौजूद हैं।

नेशनल नोडल एजेंसी CERT-in को दी जानकारी

जब इस बारे में इन बैंकों से पूछा गया तो अधिकतर बैंकों का कहना है कि उन्हें ऐसे फर्जी ऐप के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है। जबकि, कुछ बैंकों ने इस मामले की जांच करवाने की बात कही है। इस बाबत उन्होंने कंप्यूटर सिक्योरिटी से जुड़ी घटनाओं पर नजर रखने वाली नेशनल नोडल एजेंसी CERT-in को इस बारे में अवगत करा दिया है।

इन सात बैंकों को बनाया गया निशाना

रिपोर्ट में दावा किया गया कि नकली ऐप्स बनाने वाली संस्था ने सात बैंकों को निशाना बनाया है जिनमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI), ICICI बैंक, Axis बैंक, सिटी बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा और यस बैंक हैं। यस बैंक ने कहा है कि उसने इस मामले की जानकारी बैंक के साइबर फ्रॉड डिपार्टमेंट को दे दी है। हालांकि इस पर एसबीआई की ओर से अब तक कोई जानकारी नहीं मिली है। साथ ही ICICI और Axis बैंक की ओर से भी कोई जवाब नहीं दिया गया है।

कैसे पता करें फर्जी ऐप के बारे में

रिपोर्ट की मानें तो इन फर्जी एप को इन बैंकों की मोबाइल बैंकिंग ऐप और ई-वॉलेट के तौर पर पेश किया गया है। इन फर्जी एप को पहचाने का सबसे अच्छा तरीका ये है कि इन ऐप में आपको कैशबैक, फ्री मोबाइल डेटा और बिना ब्याज के लोन दिलाने वाले आॅफर की बात कही जाती है। अगर आपको भी ऐसा कोई ऐप नजर आए तो आप उसे डाउनलोड न करें और यदि भूलवश आपने ऐसे किसी एप का मोबाइल में डाउनलोड कर लिया है तो उसे तुरंत डिलीट कर दें। इस तरह आप कुछ सावधानी बरत कर अपना डेटा चोरी होने से बचा सकती है।

Antivirus softwareAxis BankBanking Fraudbanking newsFake Apps Of SBIfake bank appsGoogle Play storeICICI bankSBIState Bank of IndiaStolen DataYes Bank