Times Bull
News in Hindi

मर चुका ये राजा दिख जाता है लोगों को, 3 बार हो चुकी है इसकी लाश की जांच

चर्चा है कि करीब 3000 साल पहले मर चुके मिस्त्र के राजा तूतनखामेन अक्सर लोगों को दिख रहे हैं। कहा जाता है कि तूतनखामेन की मृत्यु महज 19 साल की उम्र में ही हो गई थी और उसके बाद में तूतनखामेन की लाश को ममी में तब्दील करके रख दिया गया था। वर्तमान में भी काफी लोग इस राजा की मृत्यु के रहस्य के संबंध में रिसर्च कर रहे हैं।

 

दुनिया के इतिहास में ऐसे कई रहस्य हैं, जो की लोगों के लिए अबूझ पहेली से कम नहीं है। अब एक बड़ा रहस्य मिस्त्र के एक राजा को लेकर भी बन गया है। दरअसल, चर्चा है कि करीब 3000 साल पहले मर चुके मिस्त्र के राजा तूतनखामेन अक्सर लोगों को दिख रहे हैं। इस तरह तूतनखामेन को इतनी प्रसिद्धी अपने शाशन काल में नहीं मिली होगी, जितनी की उसको मारने के बाद मिल रही है।

कहा जाता है कि इस राजा की मृत्यु महज 19 साल की उम्र में ही हो गई थी और उसके बाद में तूतनखामेन की लाश को ममी में तब्दील करके रख दिया गया था। वर्तमान में भी काफी लोग इस राजा की मृत्यु के रहस्य के संबंध में रिसर्च कर रहे हैं। साल 1922 में ब्रिटेन के पुरातत्ववेत्ता हॉवर्ड कार्टर ने उसकी ममी को को ढूंढ निकाला था।

85 साल पहले हॉवर्ड कार्टर ने तूतनखामेन पर रिसर्च की थी और अपने कुछ आकड़े पेश किए थे। कार्टर के मुताबिक जब उसकी ममी मिली तो उसकी कब्र में हाथी दांतों और सोने के ढेर सारे आभूषण भी रखे मिले थे। तूतनखामेन की ममी का चेहरा भी एक सोने की परत से ढका हुआ था और उसने एक ताबीज पहन रखा था।

कार्टर ने बातया था कि उसने उसके चेहरे से गर्म तारों के माध्यम से सोने की परत को हटाया और उसके शरीर को तीन भागो में बांट दिया था। साल 1926 में तूतनखामेन के शरीर को सही करके वापस रख दिया गया और उसके बाद 3 बार उसकी लाश को एक्स रे के लिए निकाला गया।

1968 में हुए एक एक्स-रे से यह बात सामने आई कि एक हड्डी का टुकड़ा उसके सर में धसां हुआ है, जिसके चलते उसकी मृत्यु हुई होगी। साथ ये भी माना जा रहा है कि तूतनखामेन की मृत्यु स्वाभाविक नहीं थी, बल्कि उसकी हत्या की गई थी। आज भी बहुत से लोग ऐसा मानते हैं कि मिस्त्र के पिरामिडों के आसपास तूतनखामेन की ममी घूमती दिखाई देती है और यहां अजीब तरह के संगीत की आवाजें भी सुनाई पड़ती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.