अपना इलाज करवाने इंसानों के अस्पताल खुद ही पहुंच गया बंदर

जब भी कोई बीमार होता है तो उसे अस्पताल ले जाया जाता है। हालांकि इंसानों के लिए अलग और जानवरों के लिए अलग अस्पताल होते हैं। आपने इंसानों को तो इलाज करवाने खुद अस्पताल जाते देखा होगा। लोग अपना मर्ज भी डॉक्टर को खुद ही बता देते हैं, लेकिन क्या आप सोच सकते हैं कि किसी जानवर में इतनी समझ हो कि वह बीमार होने पर खुद ही अस्पताल पहुंच जाए।

आज हम आपको एक ऐसे ही बंद का किस्सा बता रहे हैं। हाल ही यह बंदर इंसानों के अस्पताल में अपना इलाज करवाने पहुंच गया। यह सच्ची घटना है। आपको बता दें कि यह घटना श्रीनगर के बेस कैम्प अस्पताल की है। यहां एक बंदर चला आया, जिसको देखते ही अस्पताल कर्मियों में हड़कंप मच गया।

आपको बता दें कि यह बंदर अस्पताल की सैर करने नहीं, बल्कि अपना इलाज करवाने आया था। बंदर जब अस्पताल पहुंचा तो वह घायल अवस्था में था, उसे चोट लगी हुई थी। वह राजकीय अस्पताल के टीचिंग कॉलेज के सर्जरी वॉर्ड में घुस गया। बंदर आते ही चोटिल अवस्था में बोर्ड की ऐ बेंच पर लेट गया। यह सब कुछ ऐसे था मानो किसी मरीज को इलाज के लिए सर्जरी बोर्ड लाया गया हो।

 

अस्पताल में बंदर की चोट देखकर लोगों ने दवाई लगा दी। इसके बाद बंदर वहां से चला गया और टीचिंग कॉलेज के सर्जरी वॉर्ड में घुस गया। यहां जब वो डॉक्टर की टेबल पर लेट गया तो डॉक्टर ने बंदर का चेकअप किया। यह बंदर किसी अन्य बंदर से लड़ाई के दौरान घायल हो गया था। वॉर्ड की नर्स ने बताया कि बंदर की चोट की सफाई कर दवाई लगाई गई। इसके बाद बंदर को आराम आया और उसे पानी की एक बोतल भी दी गई। बंदर ने पानी पीकर प्यास बुझाई और खुद हीवहां से चला गया।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.