Home / Business / Business person / Baba Ramdev / बाबा रामदेव निकल जाएंगे टाटा—अंबानी से भी आगे, होगा इतना बड़ा कारोबार

बाबा रामदेव निकल जाएंगे टाटा—अंबानी से भी आगे, होगा इतना बड़ा कारोबार

योग गुरु बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि बहुत तेजी से विस्तार कर रही है। आयुर्वेदिक उत्पादों से लेकर एफएमसीजी सेक्टर तक में धाक जमाकर बहुराष्ट्रीय कंपनियों में खौफ पैदा कर चुके बाबा रामदेव अब नए कारोबार में उतरे हैं। बाबा रामदेव ने देश की 40000 करोड़ रुपए की प्राइवेट सिक्योरिटी इंडस्ट्री में कदम रखा है। पिछले 10 सालों में पतंजलि आयुर्वेद एक छोटी सी आयुर्वेदिक फार्मेसी से एक विशालकाय एफएमसीजी सेक्टर में बदल चुकी है।

ऐसा माना जा रहा है कि अब बाबा रामदेव जल्दी ही टेलिकॉम सेक्टर में भी कदम रख सकते हैं। पतंजलि के लिए संभावनाएं अपार हैं। पांच साल पहले सिर्फ आयुर्वेदिक दवाईयां बेचने वाली कंपनी सबसे बड़ा देसी ब्रांड बन चुका है। इप्सोस के हालिया सर्वे में पतंजलि को भारत के टॉप 10 प्रभावी ब्रांड्स में चौथा स्थान हासिल हुआ है। इस सूची में पतंजलि से ऊपर गूगल, माइक्रोसॉफ्ट और फेसबुक जैसी दिग्गज वैश्विक कंपनियां ही हैं।

बाबा रामदेव की कंपनी का इस तरह ​आगे बढ़ने के पीछे कारण है देश में समाजवादी विचारधारा की जड़ें। यहां लोग बहुराष्ट्रीय कंपनियों के प्रति काफी सशंकित रहते हैं। महात्मा गांधी ने पूंजीवाद के विकलप के तौर पर ग्राम स्वराज पर आधारित अर्थव्यवस्था का प्रतिपादन किया था। अब बाबा रामदेव ने भी स्वदेशी का प्रासंगिक विकल्प दिया है।

यह कहना गलत नहीं होगा कि रामदेव देश के अगले टाटा या अंबानी बनने जा रहे हैं। वह दूसरे धर्म गुरुओं को भी गोवंश आधारित पूंजीवाद का मार्ग दिखाएंगे जहां ग्राहकों को परंपरा, आध्यात्म और देशभक्ति में गुंथे उत्पाद पेश किए जाएंगे।